Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / 12 साल की दुष्कर्म पीड़िता ने दिया बेटे को जन्म

12 साल की दुष्कर्म पीड़िता ने दिया बेटे को जन्म

 

खरगोन के जिला अस्पताल में भर्ती करीब 12 साल की दुष्कर्म पीडिता नाबालिग पीडिता ने मंगलवार रात को एक बेटे को जन्म दिया है। मंगलवार की रात में जिला अस्पताल के मेटरनिटी वार्ड में कुल तीन डाॅक्टरों की टीम द्वारा किए गए सीजर के बाद पीडिता द्वारा एक बच्चे को जन्म दिया।

 

 

 

फिलहाल पीडिता और बच्चा स्वस्थ्य बताया जा रहा है और इन दोनों का मेटरनिटी वार्ड में ईलाज किया जा रहा है। मामले में पीडिता के वकील का कहना है कि दुष्कर्म के बाद गर्भवती होने के बाद एबार्सन के लिए स्थानीय न्यायालय सहित हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। लेकिन पीडिता की जान को खतरा होने से उनकी यह अपील कोर्ट द्वारा खारिज कर दी गई थी।

 

 

जिसके बाद पीडिता को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसने एक बच्चे को जन्म दिया है।

 

 

 

उल्लेखनीय है कि करीब 9 माह पूर्व बरूड थाना क्षेत्र के ग्राम भडवाली में 12 साल की पीडिता के साथ कई माह तक गॉव के ही एक युवक ने डरा धमकाकर जबरदस्ती दुष्कर्म किया गया था। इस बात का किसी से जिक्र करने पर आरोपी द्वारा उसे जान से मारने की धमकी भी दी गई थी। उसके बाद एक दिन नाबालिग पीडिता को पेट दर्द की तकलीफ होने के बाद जब जिला अस्पताल में ईलाज के लिए लाया गया तब उसके 6 माह के गर्भ ठहरने  का खुलासा हुआ था। जिसके बाद पीडिता के परिजनों द्वारा बरूड थाने में आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराया जाकर आरोपी को गिरप्तार किया गया। फिलहाल आरोपी जिला जेल में बंद है।

 

 

नाबालिग पीडिता के वकील का कहना है कि ग्राम भडवाली में करीब 9 माह पूर्व गांव के ही एक युवक द्वारा पीडिता के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था। जिससे वह गर्भवती हो गई थी। इस मामले को लेकर स्थानीय कोर्ट सहित इंदौर हाईकोर्ट में भी गर्भपात की अनुमति को लेकर आवेदन लगाया था।

 

 

लेकिन कोर्ट द्वारा इस आवेदन को खारिज कर दिया था। जिसके बाद पीडिता को अस्पताल में भर्ती कराकर उसकी सीजर से डिलेवरी कराई गई है। जबकि आरोपी फिलहाल जेल में बंद है।

 

Check Also

एनआरसी देशभर में लागू किया जाएगा: विजय गोयल

धर्मशाला। देश के लोगों की निष्पक्षता से पहचान के लिए सभी राज्यों में नेशनल रजिस्टर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.