Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / चुनाव परिणाम आये नही बनने लगी केबिनेट

चुनाव परिणाम आये नही बनने लगी केबिनेट

 

ग्वालियर । हालांकि अभी तक यह तय नही हुआ है कि राज्य में अगली सरकार किसकी बनेगी ? शिवराज सरकार की वापिसी होगी या फिर कांग्रेस अपना वनवास खत्म कर फिर से सत्ता में वापिसी करेगी । यह 11 दिसंबर को मतगणना के बाद ही तय होगा । लेकिन ग्वालियर चम्बल में जीत के पहले ही चर्चा इस बात की चल रही है कि मंत्री कौन – कौन बनेगा ?
    दल अभी भोपाल में जीत का आकलन कर रहे है । सीएम शिवराज सिंह ने कल अपनी केबिनेट की बैठक के बहाने अपने मंत्रिमंडल के सदस्यों से प्रदेश का फीडबैक लिया । मंत्रियों ने उनसे पूछा क्या होगा तो जबाव में सीएम ने मुस्कराकर शुभकामनाएं देते हुए कहा सब ठीक होगा । हम लोग सरकार में वापिसी करेंगे ।
कांग्रेस ने गुरुवार को भोपाल के अपनी वृहद बैठक बुलाई है । इसमे अपने सभी 229 उम्मीदवारों को एक साथ बुलाया है जिनसे बूथ का फीडबैक लिया जाएगा । इस बैठक में पीसीसी चीफ कमलनाथ और बाकी सभी बड़े नेता शामिल होंगे । इस बैठक में विवेक तंखा प्रत्याशियों को मतगणना की बारीकियों को समझाएंगे । कांग्रेस इस बार कोई कोर कसर नही छोड़ रही है । उसने अहमद पटेल के राज्यसभा चुनाव और फिर गुजरात,पंजाब और कर्नाटक में जो फार्मूला अपनाया था उसी पर मप्र में अमल करने का तय किया है । कांग्रेस का मानना है कि मतगणना में गड़बड़ी रोकने के लिए अतिरिक्त सतर्कता जरूरी है ।
उधर ग्वालियर चम्बल अंचल में मन्त्री कौन बनेगा ,इन पर अटकलें चल रहीं है ।
हालांकि भाजपा में अभी तक ज्यादातर जगह जीत को लेकर संशय बना हुआ है । बावजूद अगर भाजपा की ही सत्ता बहाल रही तो भी मंत्रिमंडल का रंग नया होगा । अगली सरकार में माया सिंह मन्त्री नहीं होंगी क्योंकि उनको टिकिट नही मिला । जयभान सिंह पवैया और नारायण सिंह कुशवाह के साथ इस बार अनूप मिश्रा भी मन्त्री पद की शपथ लेँगे ।
 भाजपा की सरकार बनी तो भिण्ड जिले से एक नही दो मंत्री बन सकते है । लाल सिंह आर्य के अलावा अरविंद भदौरिया और रसाल सिंह में से एक को काबीना में जगह मिलने की संभावना रहेगी । भदौरिया की संगठन में पकड है तो रसाल सिंह उमा के कोई से जगह पाएंगे । उधर राकेश चौधरी बजी मंत्री पद की कतार में होंगे ।
नई भाजपा सरकार में भी दतिया में यथास्थिति रहेगी ।
यहां से डॉ नरोत्तम मिश्रा का मन्त्री बनना तय होगा । इसी तरह शिवपुरी से यशोधरा राजे ही मंत्री बनेगी जबकि गुना अशोकनगर से लड्डूराम कोरी की तकदीर खुल सकती है ।
मुरैना से भाजपा रुस्तम सिंह और श्योपुर से दुर्गालाल विजय को शपथ दिला सकती है ।
लेकिन अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो बड़ा उलटफेर होगा । कांग्रेस की सरकार बनने पर इमारती देवी सुमन,लाखन सिंह और प्रद्युम्न सिंह तोमर में से दो का मंत्री बनना तय रहेगा ।
भिण्ड जिले से दिग्गज नेता डॉ गोविंद सिंह का केबीनेट मन्त्री बनना पक्का होगा जबकि हेमन्त कटारे को राज्यमंत्री बनाया जा सकता है । पहले भी डॉ गोविंद सिंह और चौधरी राकेश सिंह एक साथ दिग्विजय केबिनेट में रह चुके है ।
कांग्रेस सरकार बनी तो दतिया जिले से घनश्याम सिंह का मन्त्री बनना पक्का रहेगा । जबकि गुना से बमौरी विधायक यशपाल सिसोदिया मंत्री बन सकते है । बाकी शिवपुरी और अशोकनगर से कौन मंत्री बने ये फैसला ज्योतिरादित्य सिंघिया ही करेंगे ।
खास बात ये कि इसमे बड़ा हेरफेर भी सम्भव है क्योंकि इनमें से कौन जीतेगा ? इसका फैसला 11 दिसंबर को ही होगा लेकिन समर्थको और दलों में जीत के साथ साथ मन्त्री पद को लेकर भी चर्चाएं चल रहीं

Check Also

देवबंद से जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद देश की सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हैं. …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.