Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / चुनाव परिणाम आये नही बनने लगी केबिनेट

चुनाव परिणाम आये नही बनने लगी केबिनेट

 

ग्वालियर । हालांकि अभी तक यह तय नही हुआ है कि राज्य में अगली सरकार किसकी बनेगी ? शिवराज सरकार की वापिसी होगी या फिर कांग्रेस अपना वनवास खत्म कर फिर से सत्ता में वापिसी करेगी । यह 11 दिसंबर को मतगणना के बाद ही तय होगा । लेकिन ग्वालियर चम्बल में जीत के पहले ही चर्चा इस बात की चल रही है कि मंत्री कौन – कौन बनेगा ?
    दल अभी भोपाल में जीत का आकलन कर रहे है । सीएम शिवराज सिंह ने कल अपनी केबिनेट की बैठक के बहाने अपने मंत्रिमंडल के सदस्यों से प्रदेश का फीडबैक लिया । मंत्रियों ने उनसे पूछा क्या होगा तो जबाव में सीएम ने मुस्कराकर शुभकामनाएं देते हुए कहा सब ठीक होगा । हम लोग सरकार में वापिसी करेंगे ।
कांग्रेस ने गुरुवार को भोपाल के अपनी वृहद बैठक बुलाई है । इसमे अपने सभी 229 उम्मीदवारों को एक साथ बुलाया है जिनसे बूथ का फीडबैक लिया जाएगा । इस बैठक में पीसीसी चीफ कमलनाथ और बाकी सभी बड़े नेता शामिल होंगे । इस बैठक में विवेक तंखा प्रत्याशियों को मतगणना की बारीकियों को समझाएंगे । कांग्रेस इस बार कोई कोर कसर नही छोड़ रही है । उसने अहमद पटेल के राज्यसभा चुनाव और फिर गुजरात,पंजाब और कर्नाटक में जो फार्मूला अपनाया था उसी पर मप्र में अमल करने का तय किया है । कांग्रेस का मानना है कि मतगणना में गड़बड़ी रोकने के लिए अतिरिक्त सतर्कता जरूरी है ।
उधर ग्वालियर चम्बल अंचल में मन्त्री कौन बनेगा ,इन पर अटकलें चल रहीं है ।
हालांकि भाजपा में अभी तक ज्यादातर जगह जीत को लेकर संशय बना हुआ है । बावजूद अगर भाजपा की ही सत्ता बहाल रही तो भी मंत्रिमंडल का रंग नया होगा । अगली सरकार में माया सिंह मन्त्री नहीं होंगी क्योंकि उनको टिकिट नही मिला । जयभान सिंह पवैया और नारायण सिंह कुशवाह के साथ इस बार अनूप मिश्रा भी मन्त्री पद की शपथ लेँगे ।
 भाजपा की सरकार बनी तो भिण्ड जिले से एक नही दो मंत्री बन सकते है । लाल सिंह आर्य के अलावा अरविंद भदौरिया और रसाल सिंह में से एक को काबीना में जगह मिलने की संभावना रहेगी । भदौरिया की संगठन में पकड है तो रसाल सिंह उमा के कोई से जगह पाएंगे । उधर राकेश चौधरी बजी मंत्री पद की कतार में होंगे ।
नई भाजपा सरकार में भी दतिया में यथास्थिति रहेगी ।
यहां से डॉ नरोत्तम मिश्रा का मन्त्री बनना तय होगा । इसी तरह शिवपुरी से यशोधरा राजे ही मंत्री बनेगी जबकि गुना अशोकनगर से लड्डूराम कोरी की तकदीर खुल सकती है ।
मुरैना से भाजपा रुस्तम सिंह और श्योपुर से दुर्गालाल विजय को शपथ दिला सकती है ।
लेकिन अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो बड़ा उलटफेर होगा । कांग्रेस की सरकार बनने पर इमारती देवी सुमन,लाखन सिंह और प्रद्युम्न सिंह तोमर में से दो का मंत्री बनना तय रहेगा ।
भिण्ड जिले से दिग्गज नेता डॉ गोविंद सिंह का केबीनेट मन्त्री बनना पक्का होगा जबकि हेमन्त कटारे को राज्यमंत्री बनाया जा सकता है । पहले भी डॉ गोविंद सिंह और चौधरी राकेश सिंह एक साथ दिग्विजय केबिनेट में रह चुके है ।
कांग्रेस सरकार बनी तो दतिया जिले से घनश्याम सिंह का मन्त्री बनना पक्का रहेगा । जबकि गुना से बमौरी विधायक यशपाल सिसोदिया मंत्री बन सकते है । बाकी शिवपुरी और अशोकनगर से कौन मंत्री बने ये फैसला ज्योतिरादित्य सिंघिया ही करेंगे ।
खास बात ये कि इसमे बड़ा हेरफेर भी सम्भव है क्योंकि इनमें से कौन जीतेगा ? इसका फैसला 11 दिसंबर को ही होगा लेकिन समर्थको और दलों में जीत के साथ साथ मन्त्री पद को लेकर भी चर्चाएं चल रहीं

Check Also

संसद का शीतकालीन सत्र शुरू, PM बोले- कई अहम मुद्दों पर होगी चर्चा

नई दिल्ली। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की मतगणना के बीच मंगलवार को संसद का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.