Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / सरकारी बैंकों में पूंजी का स्तर बढ़ाने की दी सलाह

सरकारी बैंकों में पूंजी का स्तर बढ़ाने की दी सलाह

वाशिंगटन। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने कहा है कि भारत में वसूल नहीं हो पाने वाले कर्ज स्तर अब भी अधिक है। इसको देखते हुए कुछ बैंकों, खास तौर पर सरकारी बैंकों में पूंजी का स्तर मजबूत करने की जरूरत है। आईएमएफ की मौद्रिक एवं पूंजी बाजार विभाग की प्रमुख एना इलियाना ने कहा है कि बैंकों में पूंजी का स्तर मजबूत करना भारत के लिए वित्तीय क्षेत्र आकलन कार्यक्रम की सिफारिशों का हिस्सा है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

आइएमएफ ने कहा है कि भारत में एनपीए का स्तर अब भी काफी अधिक है। इसे देखते हुए कुछ बैंक खासकर सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में पूंजी का स्तर मजबूत करना चाहिए। भारत ने बैंकों में पूंजी बफर बढ़ाने और सरकारी बैंकों में कामकाज बेहतर बनाने के लिए भी कुछ कदम उठाए थे। इनका कुछ सकारात्मक असर हुआ है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

भारतीय बैंकिंग सिस्टम से जुड़े एक सवाल के जवाब में आइएमएफ के मौद्रिक एवं पूंजी बाजार विभाग के निदेशक और वित्तीय सलाहकार टोबिस एड्रियन ने कहा है कि भारत में एनपीए का स्तर ऊंचा बना रहेगा। उन्होंने कहा कि इस मोर्चे पर कुछ सुधार हुआ है, लेकिन हम भारत में एनपीए कम करने में और प्रगति का स्वागत करेंगे। एनपीए की पहचान और समाधान के लिए संस्थागत तंत्र वास्तव में बैंकिग प्रणाली से फंसे कर्ज को साफ करने की प्रक्रिया का अहम हिस्सा है और अधिकारियों को इसी दिशा में काम जारी रखना चाहिए।

Check Also

उदित राज ने छोड़ी पार्टी, Congress में हुए शामिल

नई दिल्ली। टिकट कटने से नाराज चल रहे सांसद उदित राज ने भाजपा छोड़ दी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.